Diet For Patients of Piles, Fistula, Fissures | MsArogyam :: Ayurveda Portal

Diet Plan For Patients of Piles, Fistula, Fissures 

  • पेट की बीमारियां, कब्ज़, बवासीर, भगन्दर आदि रोगियों के लिये भोजन व्यवस्था
  • नाश्ताः (प्रातः 7 बजे से 9 बजे तक)
  • , अंकुरित चने, अंकुरित गेहूं, बेसन का चीला, वडा-सांभर, डोसा
  • अच्छी क्वालिटी के, चपाती-सब्जी, बिना घी के सिंकी ब्राउन ब्रेड, अंकुरित मूंग
  • दलिया, खिचडी मूंग दाल व पुराने चावल की, मलाई रहित दूध, चाय, टोस्ट/रस
  • नोटः- पेठा मिठाई व घर के बने छेने की मिठाई विशेष लाभकारी है।
  • दोपहर का भोजनः (दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक)
  • टमाटर, पपीता, मूली, शलजम, गाजर आदि।
  • चपाती, हरी सब्जी या मिक्सवेज, दाल, पुराना चावल, छाछ, सलाद- प्याज़,
  • (बिना नमक व कम मात्रा में) या सेब भूनकर/दूध में पकाकर ले सकते हैं।
  • चाय, टोस्ट, बिस्कुट, बिना नमक मखाने, मखाने की खीर, सूखे मेवे
  • शाम की चाय/अल्पाहारः (शाम 4 बजे से 5 बजे तक)
  • रात्रि भोजनः (रात्रि 8 बजे से 9 बजे तक)
  • चपाती, सब्जी, दाल, चावल, सलाद (रात्रि में दही या छाछ न लें।)

नोटः- रात्रि में हल्के गर्म दूध का सेवन करना लाभकारी है।